आप कार्टूनिस्ट हैं और आपने अभी तक अपना ब्लॉग नहीं बनाया है तो कृपया अभी अपना ब्लॉग बनाएं। यदि कोई परेशानी हो तो केवल हिन्दी में अपना ब्लॉग बनवाने के लिए आज ही सम्पर्क करें-चन्दर

बुधवार, 22 जुलाई 2015

टॉम मूरे

कार्टूनिस्ट मूरे नहीं रहे
टैक्सास (अमेरिका)। प्रख्यात कॉमिक्स आर्ची को वर्षों अपनी कलम से सजाने वाले कार्टूनिस्ट टॉम मूरे नहीं रहे। 86 वर्षीय मूरे ने अमेरिका के टेक्सास में अंतिम सांस ली। मूरे के बेटे का कहना है कि पिछले हफ्ते ही पिता को गले के कैंसर का पता चला था और उन्होंने इलाज न करवाने का फैसला लिया था।
उनका कहना था कि वह हमेशा छह माह का काम एडवांस में करके रखते हैं। जैसे क्रिसमस का अंक जून में ही बना लिया करते हैं। बीच स्टोरी तब बनाते हैं, जब खिड़की के बाहर बर्फ जमी होती है।
अमेरिकी नेवी में काम कर चुके मूरे ने कोरियाई युद्घ के दौरान कार्टून को अपनी कलम से कागज पर उतारा था। आर्ची कॉमिक्स 1941 से शुरू हुई थी, लेकिन मूरे ने इसकी बागडोर 1953 में संभाली। मूरे के बनाए आर्ची, एंड्र्‌यूज और उसके दोस्तों के कार्टून वाली कॉमिक्स की 1960 में पांच लाख कॉपी बिकी थी जो उस समय का रिकॉर्ड था। 1996 में एक अखबार से बातचीत में मूरे ने कहा था कि वह एक माह में एक कॉमिक बुक निकालते हैं। 

1 टिप्पणी:

  1. ब्लॉग बुलेटिन की आज की बुलेटिन, भारत की ३ महान विभूतियों के नाम है २३ जुलाई , मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

    उत्तर देंहटाएं

कार्टूनेचर फ़ीचर सेवा

कार्टून न्यूज़ हिन्दी झरोखा